Chhattisgarh News

चीफ इंजीनियर एके सोमावार ने जाते जाते नियम विरुद्ध प्रभारवाद का ऐसा खेल खेला कि अब सीनियर अधिकारी जूनियर अधिकारी को सलामी ठोकेंगे, जूनियर ईई को एसी और जूनियर इंजी. को एसडीओ का प्रभार दिया, सीनियर अधिकारियों की उपेक्षा के विरुद्ध डिप्लोमा इंजीनियर्स एसोसिएशन ने मोर्चा खोला

चीफ इंजीनियर एके सोमावार ने जाते जाते नियम विरुद्ध प्रभारवाद का ऐसा खेल खेला कि अब सीनियर अधिकारी जूनियर अधिकारी को सलामी ठोकेंगे, जूनियर ईई को एसी और जूनियर इंजी. को एसडीओ का प्रभार दिया, सीनियर अधिकारियों की उपेक्षा के विरुद्ध डिप्लोमा इंजीनियर्स एसोसिएशन ने मोर्चा खोला

बिलासपुर।रायपुर
बिलासपुर। छत्तीसगढ़ शासन सामान्य प्रशासन विभाग के आदेशों की परवाह नहीं करते हुए अपने सेवानिवृति के दिन ही हसदेव कछार जल संसाधन विभाग के मुख्य अभियंता एके सोमावार ने वरिष्ठ अधिकारियों को दरकिनार कर दो कनिष्ठ अधिकारी को अधीक्षण अभियंता और अनुविभागीय अधिकारी  के पद पर पदस्थ किए जाने के आदेश से डिप्लोमा अभियंता संघ सख्त खफा है और आदेश दुरुस्त नहीं करने पर आंदोलन की चेतावनी दे दी है।

दरअसल जल संसाधन विभाग अंतर्गत हसदेव कछार परियोजना के मुख्य अभियंता एके सोमावार 31 जनवरी को सेवानिवृत हो गए लेकिन प्रभार सौंपने के पहले उन्होंने दो आदेश निकाले। एक आदेश में कोटा में पदस्थ कार्यपालन अभियंता आईए सिद्दीकी को अधीक्षण अभियंता जल संसाधन मंडल बिलासपुर का कार्यभार ग्रहण करने का आदेश था तो दूसरा सहायक अभियंता प्रवीण साहू को अनुविभागीय अधिकारी उप संभाग बिलासपुर में पदभार ग्रहण करने का आदेश था।

सवाल यह उठता है कि आखिर इन दोनो आदेश को सेवानिवृति के दिन ही जारी करने के पीछे क्या मकसद था ? कही इसके पीछे कोई निजी स्वार्थ तो नही था ? मुख्य अभियंता के द्वारा जारी इन दोनो आदेश को लेकर छत्तीसगढ़ डिप्लोमा अभियंता संघ ने कड़ी नाराजगी जताई है। संघ ने भेजे पत्र में कहा है कि छत्तीसगढ़ शासन सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा 4 अगस्त 2011 और 14 जुलाई 2014 को जारी आदेश में कहा जाता गई कि विभागो में रिक्त पदों का चालू प्रभार संवर्ग के वरिष्ठ अधिकारियों को बिना किसी युक्तियुक्त प्रशासकीय कारण से बाईपास करते हुए कनिष्ठ अधिकारिकारियो को न सौंपा जाए लेकिन हसदेव कछार जल संसाधन बिलासपुर के मुख्य अभियंता एके सोमावार द्वारा सार्वजनिक अवकाश के दिन अपने निजी स्वार्थवश प्रवीण साहू सहायक अभियंता को अनुविभागीय अधिकारी उप संभाग बिलासपुर में पदस्थ करने का आदेश जारी किया गया जबकि प्रवीण साहू 3 वर्ष की परिवीक्षा अवधि में है और उनकी सेवा को सिर्फ 2 वर्ष ही पूर्ण हुआ है। बिना परिवीक्षा अवधि पूरा हुए वित्तीय अधिकार नहीं देने का नियम है इसलिए प्रवीण साहू अनुविभागीय अधिकारी पद  के पात्र नहीं है। इसी तरह आईए सिद्दीकी कार्यपालन अभियंता कोटा को अधीक्षण अभियंता जल संसाधन मंडल बिलासपुर का कार्यभार ग्रहण करने का आदेश है जबकि मंडल कार्यालय में आईए सिद्दीकी से वरिष्ठ कार्यपालन अभियंता सीएल धाकड़ और आरके बंजारे  कार्यरत हैं। इसी प्रकार मंडल के अधीनस्थ एसके सराफ कार्यपालन अभियंता खारंग डिविजन और एसएल द्विवेदी कार्यपालन अभियंता कोरबा भी उनसे वरिष्ठ हैं। डिप्लोमा अभियंता संघ ने उक्त दोनों आदेश का विरोध करते हुए उसे निरस्त कर वरिष्ठता क्रम में प्रभार सौंपने का मांग किया है। मांग नहीं माने जाने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।

alternatetext
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The Latest

To Top

You cannot copy content of this page

$(".comment-click-43078").on("click", function(){ $(".com-click-id-43078").show(); $(".disqus-thread-43078").show(); $(".com-but-43078").hide(); });
$(window).load(function() { // The slider being synced must be initialized first $('.post-gallery-bot').flexslider({ animation: "slide", controlNav: false, animationLoop: true, slideshow: false, itemWidth: 80, itemMargin: 10, asNavFor: '.post-gallery-top' }); $('.post-gallery-top').flexslider({ animation: "fade", controlNav: false, animationLoop: true, slideshow: false, prevText: "<", nextText: ">", sync: ".post-gallery-bot" }); }); });
Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/dakhalchhattisga/public_html/wp-includes/functions.php on line 5373